पूजा करने के ये नियम हमेशा याद रखें

अगर आप रोज पूजा करते हैं और आपका मन अशांत रहता है तो इसका मतलब है कि आप कि पूजा-पाठ में कहीं कुछ गलत हो रहा है. मन की शांति और जिस भी मनोकामना से पूजा की जा रही है, उसकी पूर्ति के लिए परे विधान से पूजा का किया जाना जरूरी है. यहां जानते हैं कि पूजा के दौरान किन बातों का ध्यान रखें और कुछ जरूरी नियमों का पालन कैसे करें
शिवजी, गणेशजी और भैरवजी को तुलसी नहीं चढ़ानी चाहिए
तुलसी का पत्ता बिना स्नान किए नहीं तोड़ना चाहिए. शास्त्रों के अनुसार यदि कोई व्यक्ति बिना नहाए ही तुलसी के पत्तों को तोड़ता है तो पूजन में ऐसे पत्ते भगवान द्वारा स्वीकार नहीं किए जाते हैं
रविवार, एकादशी, द्वादशी, संक्रान्ति तथा संध्या काल में तुलसी के पत्ते नहीं तोड़ना चाहिए.
सूर्य देव को शंख के जल से अर्घ्य नहीं देना चाहिए.
दूर्वा (एक प्रकार की घास) रविवार को नहीं तोड़नी चाहिए
बुधवार और रविवार को पीपल के वृक्ष में जल अर्पित नहीं करना चाहिए
प्लास्टिक की बोतल में या किसी अपवित्र धातु के बर्तन में गंगाजल नहीं रखना चाहिए. अपवित्र धातु जैसे एल्युमिनियम और लोहे से बने बर्तन. गंगाजल तांबे के बर्तन में रखना शुभ रहता है
केतकी का फूल शिवलिंग पर अर्पित नहीं करना चाहिए
किसी भी पूजा में मनोकामना की सफलता के लिए दक्षिणा अवश्य चढ़ानी चाहिए
मां लक्ष्मी को विशेष रूप से कमल का फूल अर्पित किया जाता है. इस फूल को पांच दिनों तक जल छिड़क कर पुन: चढ़ा सकते हैं
घर के मंदिर में सुबह एवं शाम को दीपक अवश्य जलाएं. एक दीपक घी का और एक दीपक तेल का जलाना चाहिए
सूर्य, गणेश, दुर्गा, शिव और विष्णु, ये पंचदेव कहलाते हैं, इनकी पूजा सभी कार्यों में अनिवार्य रूप से की जानी चाहिए. प्रतिदिन पूजन करते समय इन पंचदेव का ध्यान करना चाहिए. इससे लक्ष्मी कृपा और समृद्धि प्राप्त होती है

Read More

मां को पसंद हैं ये 9 भोग जानेंं नवरात्रि के किस दिन क्या चढ़ाएं

नवरात्रि पर देवी पूजन और नौ दिन के व्रत का बहुत महत्व है. मां दुर्गा के नौ रूपों की अाराधना का पावन पर्व शुरू हो चुका है. इन नौ दिनों में व्रत रखने वा ...

Raksha Bandhan सिर्फ तीन घंटे का होगा शुभ मुहूर्त पर ही बांधे भाई को राखी

इस बार Raksha Bandhan पर्व 7 अगस्त को है। इस दिन जहां Sawan का आखिरी सोमवार है, वहीं Bhadra और Chandra Grahan भी है। इस कारण राखी बांधने के लिए थोड़ा ...

सावन में शिव जी को प्रसन्न करने के लिए करें ये उपाय...

कहा जाता है कि शिवजी को प्रसन्न करने के लिए सावन माह में उनका विशेष पूजन करना चाहिए. इस पूजा-अर्चना के दौरान आपको उनसे मनचाहा वरदान पाने के लिए कुछ खा ...

भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए क्या चढ़ाएं और क्या न चढ़ाये

धार्मिक कार्यों में हल्दी का महत्वपूर्ण स्थान है। कई पूजन कार्य हल्दी के बिना पूर्ण नहीं माने जाते। लेकिन हल्दी, शिवजी के अलावा सभी देवी-देवताओं को अर ...

वास्तुदोष क्या है, जानिए वास्तुदोष निवारण के सरल उपाय

वास्तुशास्त्र पूर्णत: वैज्ञानिक दृष्टिकोण पर आधारित है, अत: वास्तु दोष का प्रभाव मानव जीवन पर अवश्य पड़ता है। वास्तु दोष रहित भवन में मनुष्य को शांति ...

अक्षय तृतीया क्यों और कब मनाते हैं

हिंदू पर्व अक्षय तृतीया को एक पावन पर्व माना जाता है. इस मौके पर लोग घर में नए सामान या सोने के आभूषण खरीदते हैं. वैशाख माह में शुक्ल पक्ष की तृतीया क ...

नवरात्र पर्व के दौरान कन्या पूजन का बडा महत्व है, जानिए कैसे करे कन्या पूजन नवरात्रि में

नवरात्र पर्व के आठवें और नौवें दिन कन्या पूजन और उन्हें घर बुलाकर भोजन कराने का विधान होता है. दुर्गाष्टमी और नवमी के दिन आखरी नवरात्रों में इन कन्याओ ...

गणेश की पूजा का विशेष दिन बुधवार को कैसे करें पूजा

श्री गणेश की पूजा का विशेष दिन बुधवार माना गया है. साथ ही, इस दिन बुध ग्रह की भी पूजा की जाती है. यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में बुध ग्रह अशुभ स्थिति ...

विंध्याचल धाम सिद्ध पीठ की खास बातें Vindhyachal Dham Mirzapur Vindhyachal

विंध्याचल का नवरात्र मेला 29 मार्च को शुरू हो जाएगा। मां विंध्यवासिनी का दर्शन पूजन करने के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ जुटने लगी है। प्रशासन द्वारा मेले ...

इस बार अश्व पर चढ़कर आएंगी मां दुर्गा | This Navratri Maa Durga arrival on Horse

28 मार्च से चैत्र नवरात्र शुरू होने जा रहा है, हालांकि कहीं-कहीं इस बात को लेकर मतभेद हैं इसलिए कुछ स्थानों पर हिंदू नववर्ष का आगाज 29 मार्च को माना ज ...

Recent Posts






















Like us on Facebook