जानिये तुलसी के महत्वपूर्ण औषधीय गुण और प्राकृतिक महत्त्व

जिस घर में तुलसी का पौधा लहलहा रहा हों वहां आकाशीय बिजली का प्रकोप नहीं होता। तुलसी का पौधा जहां लगा हो वहा आसपास सांप बिच्छू जैसे ज़हरीले जीव नहीं आते। तुलसी का पौधा दिन रात आक्सीजन देता है, प्रदूषण दूर करता है। क्या आपने कभी इस बात पर ध्यान दिया कि आपके घर, परिवार या आप पर कोई मुसीबत आने वाली होती है तो उसका असर सबसे पहले आपके घर में स्थित तुलसी के पौधे पर होता है। आप उस पौधे का कितना भी ध्यान रखें धीरे-धीरे वो पौधा सूखने लगता है। तुलसी का पौधा ऐसा है जो आपको पहले ही बता देगा कि आप पर या आपके घर परिवार को किसी मुसीबत का सामना करना पड़ सकता है।
पुराणों और शास्त्रों के अनुसार माना जाए तो ऐसा इसलिए होता है कि जिस घर पर मुसीबत आने वाली होती है उस घर से सबसे पहले लक्ष्मी यानी तुलसी चली जाती है। क्योंकि दरिद्रता, अशांति या क्लेश जहां होता है वहां लक्ष्मी जी का निवास नही होता। अगर ज्योतिष की माने तो ऐसा बुध के कारण होता है। बुध का प्रभाव हरे रंग पर होता है और बुध को पेड़ पौधों का कारक ग्रह माना जाता है।
बुध ऐसा ग्रह है जो अन्य ग्रहों के अच्छे और बुरे प्रभाव जातक तक पहुंचाता है। अगर कोई ग्रह अशुभ फल देगा तो उसका अशुभ प्रभाव बुध के कारक वस्तुओं पर भी होता है। अगर कोई ग्रह शुभ फल देता है तो उसके शुभ प्रभाव से तुलसी का पौधा उत्तरोत्तर बढ़ता रहता है। बुध के प्रभाव से पौधे में फल फूल लगने लगते हैं। प्रतिदिन चार पत्तियां तुलसी की सुबह खाली पेट ग्रहण करने से मधुमेह, रक्त विकार, वात, पित्त आदि दोष दूर होने लगते है मां तुलसी के समीप आसन लगा कर यदि कुछ समय हेतु प्रतिदिन बैठा जाये तो श्वास के रोग अस्थमा आदि से जल्दी छुटकारा मिलता है।

तुलसी के महत्वपूर्ण औषधीय गुण

• श्वेत तुलसी बच्चों के कफ विकार, सर्दी, खांसी इत्यादि में लाभदायक है।
• कफ निवारणार्थ तुलसी को काली मिर्च पाउडर के साथ लेने से बहुत लाभ होता है।
• गले में सूजन तथा गले की खराश दूर करने के लिए तुलसी के बीज का सेवन शक्कर के साथ करने से बहुत राहत मिलती।
• तुलसी के पत्तों को काली मिर्च, सौंठ तथा चीनी के साथ पानी में उबालकर पीने में खांसी, जुकाम, फ्लू और बुखार में फायदा पहुंचता है।
• पेट में दर्द होने पर तुलसी रस और अदरक का रस समान मात्रा में लेने से दर्द में राहत मिलती है। इसके उपयोग से पाचन क्रिया में भी सुधार होता है।
• कान के साधारण दर्द में तुलसी की पत्तियों का रस गुनगुना करके डाले।
• नित्य प्रति तुलसी की पत्तियां चबाकर खाने से रक्त साफ होता है।
• चर्म रोग होने पर तुलसी के पत्तों के रस के नींबू के रस में मिलाकर लगाने से फायदा होता है।
• तुलसी के पत्तों का रस पीने से शरीर में ताकत और स्मरण शक्ति में वृध्दि होती है।
• प्रसव के समय स्त्रियों को तुलसी के पत्तों का रस देन से प्रसव पीड़ा कम होती है।
• तुलसी की जड़ का चूर्ण पान में रखकर खिलाने से स्त्रियों का अनावश्यक रक्तस्राव बंद होता है।
• जहरीले कीड़े या सांप के काटने पर तुलसी की जड़ पीसकर काटे गए स्थान पर लगाने से दर्द में राहत मिलती है।
• फोड़े फुंसी आदि पर तुलसी के पत्तो का लेप लाभदायक होता है।
• तुलसी की मंजरी और अजवायन देने से चेचक का प्रभाव कम होता है।
• सफेद दाग, झाईयां, कील, मुंहासे आदि हो जाने पर तुलसी के रस में समान भाग नींबू का रस मिलाकर 24 घंट तक धूप में रखे। थोड़ा गाढ़ा होने पर चेहरे पर लगाएं। इसके नियमित प्रयोग से झाईयां, काले दाग, कीले आदि नष्ट होकर चेहरा बेदाग हो जाता है।
• तुलसी के बीजों का सेवन दूध के साथ करने से पुरुषों में बल, वीर्य और संतोनोत्पति की क्षमता में वृध्दि होती है।
• तुलसी का प्रयोग मलेरिया बुखार के प्रकोप को भी कम करता है।
• तुलसी का शर्बत, अबलेह इत्यादि बनाकर पीने से मन शांत रहता है।
• आलस्य निराशा, कफ, सिरदर्द, जुकाम, खांसी, शरीर की ऐठन, अकड़न इत्यादि बीमारियों को दूर करने के लिए तुलसी की जाय का सेवन करें।


तुलसी का गमला रसोई के पास रखने से पारिवारिक कलह समाप्त होती है पूर्व दिशा की खिडकी के पास रखने से पुत्र यदि जिद्दी हो तो उसका हठ दूर होता है यदि घर की कोई सन्तान अपनी मर्यादा से बाहर है अर्थात नियंत्रण में नहीं है तो पूर्व दिशा में रखे तुलसी के पौधे में से तीन पत्ते किसी ना किसी रूप में सन्तान को खिलाने से सन्तान आज्ञानुसार व्यवहार करने लगती है।

कन्या के विवाह में विलम्ब हो रहा हो तो अग्नि कोण में तुलसी के पौधे को कन्या नित्य जल अर्पण कर एक प्रदक्षिणा करने से विवाह जल्दी और अनुकूल स्थान में होता है सारी बाधाए दूर होती है।

यदि कारोबार ठीक नहीं चल रहा तो दक्षिण-पश्चिम में रखे तुलसी कि गमले पर प्रति शुक्रवार को सुबह कच्चा दूध अर्पण करे व मिठाई का भोग रख कर किसी सुहागिन स्त्री को मीठी वस्तु देने से व्यवसाय में सफलता मिलती है।

नौकरी में यदि उच्चाधिकारी की वजह से परेशानी हो तो ऑफिस में खाली जमीन या किसी गमले आदि जहाँ पर भी मिटटी हो वहां पर सोमवार को तुलसी के सोलह बीज किसी सफेद कपडे में बाँध कर सुबह दबा दे सम्मन की वृद्धि होगी. नित्य पंचामृत बना कर यदि घर कि महिला शालिग्राम जी का अभिषेक करती है तो घर में वास्तु दोष हो ही नहीं सकता।

Read More

गठिया (Arthritis) का घरेलू उपचार

गठिया (Arthritis) होने के लक्षण - प्रातःकाल उठते समय जोड़ों में अकड़न महसूस होती है | विशेष रूप से हाथ और पैरों की उंगलियों, कलाई, कोहनी, कंधे, टखनों, ...

जानिए पानी पीने के नियम और फायदे, सुबह खाली पेट पानी पीने के फायदे, पानी कैसे पिये, पानी कब अधिक पियें, पानी कब न पियें और कितना पानी पिए

किसी तरह की शारीरिक परेशानी होने पर डॉक्टर पानी पीने की सलाह देते हैं। दिन में कम से कम रोज़ 8 गिलास पानी पीना चाहिए। इससे आपका डायजेस्टिव सिस्टम, स्क ...

गर्म दूध पीना उतना सेहतमंद नहीं होता है जितना की ठंडा या सामान्य दूध पीना जाने सच क्या है

अक्सर लोगों को ये समझ नहीं आता है कि ठंडा दूध पीना सेहतमंद होता है या फिर गर्म. कई लोगों को लगता है कि गर्म दूध पीना उतना सेहतमंद नहीं होता है जितना क ...

टूथपेस्ट से नाक के आकार को करें सही

आप घर बैठे एक टूथपेस्ट की सहायता से अपनी नाक के आकार को सही कर सुंदर बना सकती हैं। इसके लिए आपको इन खास चीजों की आवश्यकता पड़ती है। 1 चम्मच टूथपेस्ट, ...

परफ्यूम को कहें अलविदा

आज हम आपको कुछ ऐसे खाद्य पदार्थों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनका सेवन करने से आपको किसी भी तरह के डियोड्रेंट या सैंट की जरूरत नहीं होगी नींबू आप ...

कच्चे दूध के साथ हल्दी और दलिया

हर स्त्री अपनी त्वचा को निखारने के लिये महंगे सौंदर्य प्रसाधन का इस्तेमाल कर अपने चेहरे को सुंदर बनाने का हर प्रयास करती है पर ये सुंदरता थोड़े ही वक् ...

रोज मिल्क क्लीन्ज़र्स

गुलाब सौन्दर्य के लिए उपयोग में लाये जाने वाले पदार्थों में से एक अद्भुत पदार्थ है जिसे प्रत्येक व्यक्ति अपनी त्वचा की दैनिक देखभाल में शामिल करना चाह ...

गर्मियों में ऐसे रखें चेहरे को पिम्पल्स मुक्त

तो आइये जाने कैसे मुहांसों की समस्‍या से निजात पाया जा सकता है। 1 ऑयल फ्री फूड खाएं चिकनाई व वसा युक्त खाद्य पदार्थो का सेवन नहीं करें। आइसक्रीम, चॉक ...

मुल्‍तानी मिट्टी का फेसपैक

मुल्तानी मिट्टी को अक्सर महिलाओं द्दारा सौंदर्य को संवारनें के लिए किया जाता है। चेहरे को ताजगी देने के साथ ही यह चेहरे के दाग धब्बो, मुंहासों को भी क ...

हल्दी के फायदे

हल्दी का प्रयोग लगभग सभी प्रकार के खाने में किया जाता है। दाग, धब्बे व झाइंया मिटाने के लिए हल्दी बहुत फायदेमंद है। चेहरे पर दाग या झाइंया चेहरे के द ...

Recent Posts






















Like us on Facebook