अमेरिका से भारत का कॉमकासा करार, जानिए- पाक और चीन पर क्या पड़ेगा इसका असर

भारत और अमेरिका ने नई रक्षा संधि (कॉमकासा) पर हस्ताक्षर कर दिए हैं जो दोनों देशों को सबसे मजबूत रक्षा सहयोगी देश के तौर पर स्थापित करेगा। इस समझौते के बाद अमेरिका के लिए भारत का महत्व एक नाटो देश की तरह हो गया है। भारत से पहले जापान और ऑस्ट्रेलिया के साथ ही इस तरह का समझौता अमेरिका ने किया है। सनद रहे कि एक दशक पहले तक भारत-अमेरिका के बीच बेहद कम रक्षा सहयोग होता था। लेकिन अब सालाना 10 अरब डॉलर के उपकरण खरीदे जा रहे हैं। इनका आकार आने वाले दिनों में और तेजी से बढ़ सकता है। रक्षा व विदेश मंत्रियों के बीच हॉट लाइन अमेरिका के साथ गुरुवार को हुई पहली टू प्लस टू वार्ता बेहद सफल रही। इस दौरान पहली बार दोनों देशों के रक्षा मंत्री और विदेश मंत्री के बीच हॉटलाइन स्थापित करने का फैसला लिया गया। इतना ही नहीं, भारत की रक्षा जरूरतों को पूरा करने के लिए पेंटागन (अमेरिकी रक्षा मंत्रालय) में एक विशेष अधिकारी की नियुक्ति भी होगी। वार्ता में भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन और अमेरिका की ओर से विदेश मंत्री माइक पोंपियो और रक्षा मंत्री जिम मैटिस शरीक हुए।
क्या है कॉमकासा
कॉमकासा यानी कम्युनिकेशंस एंड इंर्फोमेशन ऑन सिक्यूरिटी मेमोरेंडम ऑफ एग्रीमेंट अमेरिका ने नाटो समेत कुछ अन्य देशों के साथ किया हुआ है। यह अमेरिका की तरफ से उसके सहयोगी देशों को बेहद अत्याधुनिक रक्षा तकनीक देने और आपातकालीन स्थिति में उन्हें तत्काल मदद देने की राह निकालता है।
चिढ़ सकता है चीन
यह समझौता चीन को बेहद नागवार गुजर सकता है, क्योंकि भारत व अमेरिका ने टू प्लस टू वार्ता के बाद जारी साझा बयान में इस बात के संकेत दिए हैं कि वह पूरे क्षेत्र में द्विपक्षीय व त्रिपक्षीय सहयोग के साथ चार देशों के सहयोग को लेकर भी तैयार है। सनद रहे कि भारत, अमेरिका, जापान व आस्ट्रेलिया के बीच पिछले एक वर्ष में दो बार विमर्श हुआ जिसे हिंद-प्रशांत क्षेत्र में एक नए समीकरण के तौर पर देखा जा रहा है।
अगले साल त्रिपक्षीय सैन्य अभ्यास
भारत व अमेरिका ने कहा है कि उनकी तीनों सेनाओं के बीच अगले वषर्ष पहली बार सैन्य अभ्यास किया जाएगा। संभवत: यह हिंद महासागर में किया जाएगा जहां चीन की ब़़ढती गतिविधियां भारत के लिए चिंता का सबब बनी हुई हैं।
मेक इन इंडिया को बढ़ावा
कॉमकासा करार को हिंदी में संचार, सक्षमता, सुरक्षा समझौता कहा गया है। यह पूरी तरह से भारत की सैन्य जरूरत को ध्यान में रखते हुए किया गया है। अभी इसकी अवधि 10 साल के लिए होगी। यह रक्षा क्षेत्र में मेक इन इंडिया कार्यक्रम को भी ब़़ढावा देगा, क्योंकि अब अमेरिकी निजी कंपनियों को रक्षा क्षेत्र की उच्च तकनीकी वाले हथियारों या उपकरणों का यहां निर्माण करने की इजाजत होगी।
इसलिए महत्वपूर्ण है करार
-अमेरिका अपनी गोपनीय सुरक्षा तकनीकों को भी भारत को मुहैया कराएगा।
-29 देशों के उत्तर अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) के सदस्य देशों को छोड़ भारत इकलौता ऐसा देश बन गया है, जिसे अमेरिका ये सुविधाएं देगा।
-सेना के लिए अमेरिका से अत्याधुनिक संचार प्रणाली मिलेगी।
-इस करार से अमेरिका के बेहद उन्नत युद्धक विमानों मसलन सी-17, सी-130 हरक्यूलिस का भारत में निर्माण संभव हो सकेगा।
-भारत जिन विमानों को स्थानीय तौर पर विकसित कर रहा है, उनमें भी अमेरिकी मदद ली जा सकती है।
-अमेरिका दुनिया भर से जो भी संवेदनशील डाटा अपनाता है, उसे भारत को भी दिया जा सकेगा।
-ऐसे में चीन और पाकिस्तान की सैन्य तैयारियों को लेकर भी सूचना मिल सकेगी।
-अमेरिका ने पहले ही भारत को ड्रोन तकनीक देने की बात कही है। यह करार इसकी राह भी आसान करेगा।

Read More

BSP मुखिया मायावती के भाई पर आयकर विभाग का शिकंजा, 400 करोड़ रुपये का प्लॉट जब्त

बहुजन समाज पार्टी (Bahujan samaj Party) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती (Mayawati) के भाई और पार्टी उपाध्यक्ष आनंद कुमार (anand Kumar) और उनकी पत्नी के ख ...

पाकिस्तान: मुंबई हमले का मास्टरमाइंड आतंकी हाफिज सईद गिरफ्तार, भेजा गया जेल

भारत के मोस्ट वांटेड आतंकियों में से एक और 26/11 मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद (Hafiz Saeed) को पाकिस्तान में गिरफतार कर लिया गया है। आतंकी हाफि ...

Mumbai Building Collapse Live Updates: डोंगरी इलाके में चार मंजिला इमारत गिरी, 12 की मौत

मुंबई के डोंगरी इलाके में मंगलवार सुबह केसरबाई नामक चार मंजिला इमारत गिर गयी। इस हादसे में 12 लोगों की मौत हो गयी जबकि पांच लोगों को बचा लिया गया है। ...

karnataka crisis: भाजपा ने मांगा सीएम का इस्‍तीफा, कांग्रेस बोली- 18 जुलाई को होगा फ्लोर टेस्‍ट

कर्नाटक में सियासी ड्रामे के बीच पल-पल घटनाक्रम बदल रहा है। एक दिन पहले इस्तीफा वापस लेने की बात कहने वाले कांग्रेस के बागी विधायक एमटीबी नागराज पलट ग ...

लालू प्रसाद यादव को झारखंड हाई कोर्ट से जमानत, दो मामलों में बेल का इंतजार; अभी जेल में ही रहेंगे

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को जमानत मिल गई है। झारखंड हाई कोर्ट ने लालू को चारा घोटाले के देवघर कोषागर मामले में शुक्रवार को राहत प्रदान कर दी। चा ...

World Cup 2019: धौनी के जल्दी ना आने पर नाखुश दिग्गज क्रिकेटर्स, बताया- ये था सबसे बड़ा ब्लंडर

वर्ल्ड कप 2019 के सेमीफाइनल में भारत की हार के साथ महेंद्र सिंह धौनी की बल्लेबाजी काफी चर्चा में है। सोशल मीडिया से लेकर भारतीय क्रिकेट टीम के दिग्गज ...

Weather Update: उत्‍तराखंड के लिए तीन दिन पड़ेंगे भारी, यूपी-महाराष्‍ट्र समेत कई राज्‍यों में अलर्ट

मुंबई में रुक-रुक कर हो रही भारी बारिश के बीच भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने पूर्वी और पश्चिमी यूपी, कर्नाटक के तटीय इलाकों और हिमाचल प्रदेश में मंगलवार ...

Union Budget 2019: बजट से ये चीजें हुईं महंगी और इनके घटने जा रहे दाम

वित्‍तमंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट 2019 पेश कर दिया है। बजट में किसानों, गरीबों और मध्‍यमवर्ग का विशेष ध्‍यान रखा गया है। लेकिन पेट्रोल-डीजल, सोना और ...

Union Budget 2019: आयकर में कोई बदलाव नहीं, हाउसिंग लोन के ब्याज पर 3.5 लाख रुपये की छूट

वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने पहले बजट में कई बड़ी घोषणाएं की हैं। इन घोषणाओं में रेलवे में निजी भागीदारी बढ़ाने से लेकर देश में जल्द आदर्श कि ...

Parliament Budget Session 2019 Live: हमारे डॉक्टर सुपर हीरो और राष्ट्रीय संपत्ति- हेमा मालिनी

नरेंद्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट कल शुक्रवार को पेश होगा, लेकिन उससे पहले आज वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Si ...

Akash Vijayvargiya Case : दिग्विजय सिंह बोले, कार्रवाई नहीं हुई तो कथनी करनी में फर्क

क्रिकेट के बल्ले से इंदौर के एक अधिकारी की कथित पिटाई करने वाले भाजपा के विधायक और पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) ...

Recent Posts






















Like us on Facebook