अमेरिका से भारत का कॉमकासा करार, जानिए- पाक और चीन पर क्या पड़ेगा इसका असर

भारत और अमेरिका ने नई रक्षा संधि (कॉमकासा) पर हस्ताक्षर कर दिए हैं जो दोनों देशों को सबसे मजबूत रक्षा सहयोगी देश के तौर पर स्थापित करेगा। इस समझौते के बाद अमेरिका के लिए भारत का महत्व एक नाटो देश की तरह हो गया है। भारत से पहले जापान और ऑस्ट्रेलिया के साथ ही इस तरह का समझौता अमेरिका ने किया है। सनद रहे कि एक दशक पहले तक भारत-अमेरिका के बीच बेहद कम रक्षा सहयोग होता था। लेकिन अब सालाना 10 अरब डॉलर के उपकरण खरीदे जा रहे हैं। इनका आकार आने वाले दिनों में और तेजी से बढ़ सकता है। रक्षा व विदेश मंत्रियों के बीच हॉट लाइन अमेरिका के साथ गुरुवार को हुई पहली टू प्लस टू वार्ता बेहद सफल रही। इस दौरान पहली बार दोनों देशों के रक्षा मंत्री और विदेश मंत्री के बीच हॉटलाइन स्थापित करने का फैसला लिया गया। इतना ही नहीं, भारत की रक्षा जरूरतों को पूरा करने के लिए पेंटागन (अमेरिकी रक्षा मंत्रालय) में एक विशेष अधिकारी की नियुक्ति भी होगी। वार्ता में भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन और अमेरिका की ओर से विदेश मंत्री माइक पोंपियो और रक्षा मंत्री जिम मैटिस शरीक हुए।
क्या है कॉमकासा
कॉमकासा यानी कम्युनिकेशंस एंड इंर्फोमेशन ऑन सिक्यूरिटी मेमोरेंडम ऑफ एग्रीमेंट अमेरिका ने नाटो समेत कुछ अन्य देशों के साथ किया हुआ है। यह अमेरिका की तरफ से उसके सहयोगी देशों को बेहद अत्याधुनिक रक्षा तकनीक देने और आपातकालीन स्थिति में उन्हें तत्काल मदद देने की राह निकालता है।
चिढ़ सकता है चीन
यह समझौता चीन को बेहद नागवार गुजर सकता है, क्योंकि भारत व अमेरिका ने टू प्लस टू वार्ता के बाद जारी साझा बयान में इस बात के संकेत दिए हैं कि वह पूरे क्षेत्र में द्विपक्षीय व त्रिपक्षीय सहयोग के साथ चार देशों के सहयोग को लेकर भी तैयार है। सनद रहे कि भारत, अमेरिका, जापान व आस्ट्रेलिया के बीच पिछले एक वर्ष में दो बार विमर्श हुआ जिसे हिंद-प्रशांत क्षेत्र में एक नए समीकरण के तौर पर देखा जा रहा है।
अगले साल त्रिपक्षीय सैन्य अभ्यास
भारत व अमेरिका ने कहा है कि उनकी तीनों सेनाओं के बीच अगले वषर्ष पहली बार सैन्य अभ्यास किया जाएगा। संभवत: यह हिंद महासागर में किया जाएगा जहां चीन की ब़़ढती गतिविधियां भारत के लिए चिंता का सबब बनी हुई हैं।
मेक इन इंडिया को बढ़ावा
कॉमकासा करार को हिंदी में संचार, सक्षमता, सुरक्षा समझौता कहा गया है। यह पूरी तरह से भारत की सैन्य जरूरत को ध्यान में रखते हुए किया गया है। अभी इसकी अवधि 10 साल के लिए होगी। यह रक्षा क्षेत्र में मेक इन इंडिया कार्यक्रम को भी ब़़ढावा देगा, क्योंकि अब अमेरिकी निजी कंपनियों को रक्षा क्षेत्र की उच्च तकनीकी वाले हथियारों या उपकरणों का यहां निर्माण करने की इजाजत होगी।
इसलिए महत्वपूर्ण है करार
-अमेरिका अपनी गोपनीय सुरक्षा तकनीकों को भी भारत को मुहैया कराएगा।
-29 देशों के उत्तर अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) के सदस्य देशों को छोड़ भारत इकलौता ऐसा देश बन गया है, जिसे अमेरिका ये सुविधाएं देगा।
-सेना के लिए अमेरिका से अत्याधुनिक संचार प्रणाली मिलेगी।
-इस करार से अमेरिका के बेहद उन्नत युद्धक विमानों मसलन सी-17, सी-130 हरक्यूलिस का भारत में निर्माण संभव हो सकेगा।
-भारत जिन विमानों को स्थानीय तौर पर विकसित कर रहा है, उनमें भी अमेरिकी मदद ली जा सकती है।
-अमेरिका दुनिया भर से जो भी संवेदनशील डाटा अपनाता है, उसे भारत को भी दिया जा सकेगा।
-ऐसे में चीन और पाकिस्तान की सैन्य तैयारियों को लेकर भी सूचना मिल सकेगी।
-अमेरिका ने पहले ही भारत को ड्रोन तकनीक देने की बात कही है। यह करार इसकी राह भी आसान करेगा।

Read More

आज से देश के दस करोड़ से ज्‍यादा लोग करा सकेंगे किसी भी अस्‍पताल में मुफ्त इलाज

प्रधानमंत्री नरेंन्द्र मोदी 23 सितंबर को झारखंड की राजधानी रांची से प्रधानमंत्री जन आरोग्‍य योजना की शुरूआत की। इस स्कीम के तहत 10 करोड़ से ज्यादा परि ...

सिक्किम पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी, राज्य को आज मिल जाएगा पहला हवाई अड्डा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को झारखंड में एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि वे सोमवार को पाकयोंग में सिक्किम के पहले हवाई अड्डे का उद्घाटन करेंगे। ...

विमान में मचा हड़कंप, यात्रियों के नाक-कान से गिरने लगा खून; जानिए क्‍या है मामला

मुंबई से जयपुर जा रही जेट एयरवेज की फ्लाइट में कई यात्रियों के नाक और कान से खून निकलने लगा। कुछ यात्रियों को सिर में तेज दर्द होने लगा। ऐसे में विमान ...

जीपीएस नाविक की मदद से देश सहित सीमा से बाहर दो सौ किमी तक रखी जाएगी नजर

करीब 18 साल पहले कारगिल युद्ध के दौरान ऊंची चोटियों पर बैठे दुश्मनों की सटीक जानकारी लेने के लिए सेना को जीपीएस (ग्लोबल पोजीशनिंग सिस्टम) की जरूरत पड़ ...

पूर्वांचल राज्य की मांग कर रही महिला ने बस में लगा दी अाग,

वाराणसी स्थित कैंट रोडवेज बस स्टेशन पर लखनऊ जा रही वॉल्वो एसी बस में एक महिला ने पेट्रोल डालकर अाग लगा दी। महिला को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बताय ...

राहुल गांधी ने जिस बच्चे को पढ़ाने का वादा किया आज वो लगा रहा ठेला

भोपाल, नईदुनिया स्टेट ब्यूरो। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कुछ साल पहले जिस नाबालिग बच्चे को अखबार बेचते हुए देखकर पढ़ाने का वादा किया था, आज वह ठेल ...

राहुल गांधी ने खेला 2019 के चुनाव का सबसे बड़ा दांव, भोपाल में किया ये एलान

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने साफ कर दिया है कि वह 2019 के चुनाव को चेहरों की लड़ाई की बजाय मुद्दों पर ले जाना चाहते हैं। सोमवार को मध्य प्रदेश में ...

सोनीपत में बदमाशों ने रेलकर्मी के काटे दोनों हाथ, विरोध में दिल्ली-चंडीगढ़ ट्रैक जाम

दिल्ली से सटे हरियाणा के सोनीपत में अज्ञात बदमाशों ने दुस्साहसिक घटना को अंजाम देते हुए ड्यूटी पर तैनात रेलवे गेटमैन के दोनों हाथ काट दिए, क्योंकि उसन ...

स्वच्छता की अलख जगाएगा दैनिक जागरण, पीएम मोदी आज देशवासियों को देंगे संदेश

स्वच्छता किसी समाज की क्षमता और सोच का दर्पण है और सिर ऊंचा कर आगे बढ़ने की पहली शर्त भी। दैनिक जागरण ने स्वच्छता को अपने सात सरोकारों में शामिल किया ...

माल्या पर महाभारत- राहुल ने मांगा जेटली का इस्तीफा, भाजपा बोली- लोन तो कांग्रेस ने दिए

भगोड़े कारोबारी विजय माल्या के बयान पर भाजपा और कांग्रेस में महाभारत शुरू हो गया है। कांग्रेस ने वित्त मंत्री अरुण जेटली के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र म ...

पीएम मोदी पर आतंकी हमले का खतरा, महिला का रूप धर सकते हैं आतंकवादी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मध्य प्रदेश में इंदौर यात्रा के पहले आतंकी हमले की आशंका से सुरक्षा एजेंसियां चौकन्नी हो गई हैं। एजेंसियों को खबर मिली है ...

Recent Posts





















Like us on Facebook