कर्नाटक चुनाव के नतीजे: शिकारीपुरा से आगे चल रहे येदियुरप्पा करेंगे शिकार या खुद होंगे शिकार

कर्नाटक पर देशभर की निगाहें लगी हुई हैं। मंगलवार को राज्य विधानसभा चुनावों के लिए मतों की गणना होगी। 224 सदस्यीय विधानसभा की 222 सीटों पर शनिवार को मतदान हुआ था। मुख्य मुकाबला भाजपा और कांग्रेस के बीच है। मतदान के बाद विभिन्न चैनलों पर प्रसारित एग्जिट पोल में त्रिशंकु विधानसभा की संभावना व्यक्त की गई है। ऐसी स्थिति में अगली सरकार के गठन में जदएस की भूमिका अहम हो सकती है। पांच चैनलों के एग्जिट पोल में भाजपा को और चार चैनलों के एग्जिट पोल में कांग्रेस को सबसे बड़ी पार्टी के रूप में दिखाया गया है। हालांकि, दो-दो चैनलों के एग्जिट पोल में भाजपा और कांग्रेस को बहुमत का अनुमान भी व्यक्त किया गया है। मतगणना के जो भी नतीजे आएं पर सरकार गठन की पांच संभावनाएं हो सकती हैं।
1. भाजपा को बहुमत मिलने पर
भाजपा अगर बहुमत का आंकड़ा हासिल करने में कामयाब रही तो स्पष्ट तौर पर बीएस येद्दयुरप्पा ही कर्नाटक के अगले मुख्यमंत्री होंगे। लेकिन 2019 के लोकसभा चुनावों के मद्देनजर पार्टी किसी दलित चेहरे को उपमुख्यमंत्री भी बना सकती है। अगर दो-चार सीटें कम पड़ीं तो निर्दलीय विधायकों का समर्थन जुटाया जा सकता है।
2. कांग्रेस को बहुमत मिलने पर कांग्रेस को बहुमत मिला तो इस बात में कोई संदेह नहीं है कि सिद्दरमैया ही राज्य के मुख्यमंत्री बने रहेंगे। ऐसे में दलित मुख्यमंत्री की मांग के मद्देनजर पार्टी किसी दलित को उपमुख्यमंत्री बना सकती है। एक संभावना किसी लिंगायत को उपमुख्यमंत्री बनाने की भी है। अगर पार्टी बहुमत के आंकड़े से दो-चार सीटें पीछे रह गई तो निर्दलीय विधायक ही उसका सहारा बनेंगे।
3. भाजपा सबसे बड़ी पार्टी
इस स्थिति में भाजपा को जदएस के समर्थन की जरूरत होगी। अगर जदएस 40-50 सीटें हासिल करने में सफल रहा तो 30-30 (आधा-आधा कार्यकाल) फॉर्मूले पर सहमति बन सकती है। लेकिन तब भी भाजपा पहला कार्यकाल जदएस को देने पर शायद ही सहमत हो क्योंकि पूर्व में कुमार स्वामी भाजपा के साथ समझौता करके उससे मुकर चुके हैं।
4. कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी
ऐसी स्थिति में पार्टी को जदएस के साथ-साथ निर्दलीय विधायकों के समर्थन की भी दरकार होगी। हालांकि सरकार गठन की शर्ते जदएस के संख्या बल पर निर्भर करेंगी। इसके अलावा जदएस से कटुतापूर्ण संबंधों के कारण सिद्दरमैया मुख्यमंत्री नहीं बन सकेंगे और कांग्रेस को मुख्यमंत्री पद के लिए नया चेहरा तलाशना होगा। सियासी हलकों में चर्चा तो यह भी है कि चूंकि कांग्रेस और जदएस दोनों का ही प्रभाव पुराने मैसुरु क्षेत्र में है इसलिए संभव है जदएस कांग्रेस के साथ न जाए।
5. जदएस का मुख्यमंत्री
एक संभावना एचडी कुमार स्वामी के नेतृत्व में जदएस सरकार बनने की भी है। जिसे भाजपा या कांग्रेस बाहर से समर्थन दें। भाजपा 2019 के लोकसभा चुनावों के मद्देनजर जदएस का समर्थन करने पर सहमत हो भी सकती है। इसी तरह, कांग्रेस भी भाजपा को सत्ता से दूर रखने के लिए जदएस को बाहर से समर्थन दे सकती है। इसके अलावा उसका यह कदम 2019 के लोकसभा चुनावों के लिए विपक्षी दलों के महागठबंधन में भी सहायक होगा।

Read More

सीएम बनते ही बोले कमलनाथ, यूपी-बिहार नहीं मध्यप्रदेश के युवाओं का नौकरी पर पहला हक

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ का एक काम पहले दिन से ही विवादों की भेट चढ़ता नजर आ रहा है। दरअसल, मुख्यमंत्री ने पहले दिन उद्योगों के लिए नई छूट नीत ...

कर्जमाफी- गंगा जल लेकर किया गया वादा कांग्रेस के लिए चुनौती, किसानों को है बेसब्री से इंतजार

मध्य प्रदेश, राजस्थान के साथ ही छत्तीसगढ़ में भी मुख्यमंत्री पद के दावेदार का चयन होने के बाद अब इंतजार केवल इसका नहीं है कि कमलनाथ, अशोक गहलोत और भूप ...

कौन बनेगा मुख्यमंत्रीः मप्र, राजस्थान के बाद अब छत्तीसगढ़ की बारी, सस्पेंस बरकरार

मध्यप्रदेश के बाद राजस्थान के मुख्यमंत्री की भी घोषणा हो गई, लेकिन छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री पर रहस्य बरकरार है। शुक्रवार को दिल्ली में कांग्रेस के राष् ...

मध्यप्रदेश में कमल के बाद कमलनाथ का राज, सोनिया-प्रियंका की ने की सीएम बनने में मदद!

चुनाव नतीजे आने के दो दिन बाद कांग्रेस आखिरकार मध्य प्रदेश में कमलनाथ को मुख्यमंत्री चुनने में सफल रही। मध्यप्रदेश में कमलनाथ पर मुहर राहुल गांधी ने म ...

तीनों राज्यों के सीएम पर अब भी सस्पेंस, अब दिल्ली में राहुल तय करेंगे नाम

तीन राज्यों में बड़ी जीत के बाद मुख्यमंत्री पद की दौड़ में शामिल दिग्गजों के डटे रहने की वजह से कांग्रेस के लिए सीएम तय करना आसान नहीं रहा। मध्य प्रदे ...

मध्यप्रदेश-राजस्थान में किसी को बहुमत नहीं, जोड़-तोड़ शुरू; किसकी बनेगी सरकार ?

कांग्रेस पार्टी तीन राज्यों में मिली जीत से भले ही उत्साहित हो लेकिन वो दो राज्यों, राजस्थान और मध्यप्रदेश में बहुमत का आंकड़ा नहीं छू पाई है। इसीलिए ...

दिल थाम कर बैठिए, कल धीरे-धीरे आएगा चुनाव परिणाम, कांग्रेस की ये मांग है वजह

इस बार मतगणना का परिणाम धीरे-धीरे आएगा और देर रात तक नतीजे घोषित होने की संभावना है। इसके पीछे वजह कांग्रेस की आशंका और चुनाव आयोग का एक फैसला है। दरअ ...

10 Exit Poll का सार, जानें कहां बन रही है किसकी सरकार

राजस्थान और तेलंगाना का मतदान खत्म होते ही एग्जिट पोल जारी कर दिए गए। सभी की नजरें मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ पर टिकी थी, जहां मुख्य मुकाबला भा ...

दैनिक जागरण के 75 सालः संवरते भारत का संवाद, पीएम मोदी रखेंगे विचार

विज्ञान, नैतिकता और सार्थकता की राह दिखाने वाला भारत अब फिर से खुद को तलाश रहा है। जाहिर है कि यह स्थिति कई कारणों से बनी जिसमें शायद वषर्षो की गुलामी ...

बिचौलिये मिशेल से CBI की सख्त पूछताछ, सिर्फ दो घंटे सोने दिया, घबराहट में दौरा पड़ा

अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलिकॉप्टर सौदे में बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल (57) के दिल्ली पहुंचने के बाद सीबीआइ ने उससे सघन पूछताछ की। उसे रात में सिर्फ द ...

भारत का सबसे वजनी सैटेलाइट GSAT-11 लांच, तेज हो जाएगी इंटरनेट की स्पीड

भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी ISRO ने बुधवार को अपने अब तक के सबसे वजनी सैटेलाइट का प्रक्षेपण कर दिया। भारतीय समयानुसार मगंलवार-बुधवार की रात में दक्षिणी अमे ...

Recent Posts






















Like us on Facebook