मोदी कैबिनेट में बड़ा फेरबदल, पीयूष गोयल को मिला वित्त मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार

सोमवार की रात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अचानक चार मंत्रियों के प्रभार में बदलाव कर दिया। केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली का किडनी ट्रांसप्लांट और उसके कारण कुछ दिनों तक उनकी गैर मौजूदगी जहां तात्कालिक कारण बना, वहीं दो अन्य मंत्रालयों में कामकाज को सुचारु और नियमित बनाने के लिए बदलाव किया गया। केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल तब तक वित्त मंत्रालय का अतिरिक्त कामकाज संभालेंगे जब तक जेटली पूरी तरह स्वास्थ्य लाभ कर काम पर नहीं लौटते हैं। बड़ा बदलाव सूचना प्रसारण मंत्रालय में हुआ। यहां स्मृति ईरानी को हटाकर उनके ही राज्य मंत्री राज्यव‌र्द्धन सिंह राठौर को पूरी तरह जिम्मेदारी दे दी गई है।
एसएस अहलूवालिया को स्वच्छता और पेयजल मंत्रालय में राज्य मंत्री से हटाकर इलेक्ट्रॉनिक और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय में राज्य मंत्री बनाया गया है। यहां से हटने के बाद अब अल्फोंस कन्ननथनम केवल पर्यटन मंत्री बने रहेंगे। ध्यान रहे कि पिछले दिनों कैबिनेट विस्तार और फेरबदल को लेकर काफी अटकलें चलती रही थीं। माना जा रहा था कि चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक विस्तार कर रिक्त सीटों पर समीकरण के लिहाज से नए मंत्रियों को लाएंगे। बिहार में जदयू के साथ सरकार गठन के बाद उसके प्रतिनिधित्व की भी बात हो रही थी। लेकिन सोमवार की रात हुए फेरबदल ने एक तरह से उस अटकल को खारिज कर दिया है। चूंकि वित्त मंत्री जेटली का किडनी ट्रांसप्लांट सोमवार को ही हुआ और उसके बाद उन्हें कुछ महीनों तक आराम करना होगा, इसलिए पीयूष गोयल को वित्त मंत्रालय का अतिरिक्त जिम्मा दिया गया है।
राष्ट्रपति भवन से जारी सूचना में यह भी स्पष्ट किया गया कि वह केवल तब तक इस जिम्मेदारी पर रहेंगे जब तक जेटली अस्वस्थ हैं। दरअसल पेशे से चार्टर्ड एकाउंटेंट रह चुके पीयूष गोयल वित्त मामलों के जानकार हैं। वैसे यह भी संयोग है कि उन्हें वित्त मंत्री बनाने की अटकलें भी लंबे समय से चलती रही हैं। सबसे बड़ा बदलाव स्मृति ईरानी के रूप में हुआ। पिछले फेरबदल में उन्हें कपड़ा के साथ साथ सूचना प्रसारण मंत्रालय का दायित्व दिया गया था। इस बार उनसे यह वापस ले लिया गया।
गौरतलब है कि पिछले कुछ दिनों में कुछ मुद्दों को लेकर विवाद रहा था। स्मृति का व्यक्तित्व कुछ ऐसा रहा है कि टकराव की स्थिति बनती रही है। राज्यव‌र्द्धन न सिर्फ लंबे वक्त से इस मंत्रालय में राज्य मंत्री का कामकाज देखते रहे हैं, बल्कि उनकी खासी समझ है। वह पहले अरुण जेटली और फिर एम वेंकैया नायडू के साथ भी सूचना प्रसारण मंत्रालय में रहे थे। वह स्वतंत्र प्रभार के रूप में इस मंत्रालय में रहेंगे। लंबे अनुभव के साथ अहलूवालिया ऐसे व्यक्ति के रूप में जाने जाते हैं जो चुनौती ले सकते हैं।
अरुण जेटली का किडनी ट्रांसप्लांट सफल
केंंद्रीय वित्त मंत्री अरूण जेटली का सोमवार को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में किडनी ट्रांसप्लांट का ऑपरेशन सफल रहा। एम्स अस्पताल ने यह जानकारी दी है। 65 वर्षीय जेटली को रविवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उन्हें आज सुबह करीब आठ बजे ऑपरेशन थियेटर में ले जाया गया। किडनी की बीमारी से ग्रस्त अरूण जेटली का पिछले एक महीने से डायलिसिस हो रहा था।

Read More

सीएम बनते ही बोले कमलनाथ, यूपी-बिहार नहीं मध्यप्रदेश के युवाओं का नौकरी पर पहला हक

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ का एक काम पहले दिन से ही विवादों की भेट चढ़ता नजर आ रहा है। दरअसल, मुख्यमंत्री ने पहले दिन उद्योगों के लिए नई छूट नीत ...

कर्जमाफी- गंगा जल लेकर किया गया वादा कांग्रेस के लिए चुनौती, किसानों को है बेसब्री से इंतजार

मध्य प्रदेश, राजस्थान के साथ ही छत्तीसगढ़ में भी मुख्यमंत्री पद के दावेदार का चयन होने के बाद अब इंतजार केवल इसका नहीं है कि कमलनाथ, अशोक गहलोत और भूप ...

कौन बनेगा मुख्यमंत्रीः मप्र, राजस्थान के बाद अब छत्तीसगढ़ की बारी, सस्पेंस बरकरार

मध्यप्रदेश के बाद राजस्थान के मुख्यमंत्री की भी घोषणा हो गई, लेकिन छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री पर रहस्य बरकरार है। शुक्रवार को दिल्ली में कांग्रेस के राष् ...

मध्यप्रदेश में कमल के बाद कमलनाथ का राज, सोनिया-प्रियंका की ने की सीएम बनने में मदद!

चुनाव नतीजे आने के दो दिन बाद कांग्रेस आखिरकार मध्य प्रदेश में कमलनाथ को मुख्यमंत्री चुनने में सफल रही। मध्यप्रदेश में कमलनाथ पर मुहर राहुल गांधी ने म ...

तीनों राज्यों के सीएम पर अब भी सस्पेंस, अब दिल्ली में राहुल तय करेंगे नाम

तीन राज्यों में बड़ी जीत के बाद मुख्यमंत्री पद की दौड़ में शामिल दिग्गजों के डटे रहने की वजह से कांग्रेस के लिए सीएम तय करना आसान नहीं रहा। मध्य प्रदे ...

मध्यप्रदेश-राजस्थान में किसी को बहुमत नहीं, जोड़-तोड़ शुरू; किसकी बनेगी सरकार ?

कांग्रेस पार्टी तीन राज्यों में मिली जीत से भले ही उत्साहित हो लेकिन वो दो राज्यों, राजस्थान और मध्यप्रदेश में बहुमत का आंकड़ा नहीं छू पाई है। इसीलिए ...

दिल थाम कर बैठिए, कल धीरे-धीरे आएगा चुनाव परिणाम, कांग्रेस की ये मांग है वजह

इस बार मतगणना का परिणाम धीरे-धीरे आएगा और देर रात तक नतीजे घोषित होने की संभावना है। इसके पीछे वजह कांग्रेस की आशंका और चुनाव आयोग का एक फैसला है। दरअ ...

10 Exit Poll का सार, जानें कहां बन रही है किसकी सरकार

राजस्थान और तेलंगाना का मतदान खत्म होते ही एग्जिट पोल जारी कर दिए गए। सभी की नजरें मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ पर टिकी थी, जहां मुख्य मुकाबला भा ...

दैनिक जागरण के 75 सालः संवरते भारत का संवाद, पीएम मोदी रखेंगे विचार

विज्ञान, नैतिकता और सार्थकता की राह दिखाने वाला भारत अब फिर से खुद को तलाश रहा है। जाहिर है कि यह स्थिति कई कारणों से बनी जिसमें शायद वषर्षो की गुलामी ...

बिचौलिये मिशेल से CBI की सख्त पूछताछ, सिर्फ दो घंटे सोने दिया, घबराहट में दौरा पड़ा

अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलिकॉप्टर सौदे में बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल (57) के दिल्ली पहुंचने के बाद सीबीआइ ने उससे सघन पूछताछ की। उसे रात में सिर्फ द ...

भारत का सबसे वजनी सैटेलाइट GSAT-11 लांच, तेज हो जाएगी इंटरनेट की स्पीड

भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी ISRO ने बुधवार को अपने अब तक के सबसे वजनी सैटेलाइट का प्रक्षेपण कर दिया। भारतीय समयानुसार मगंलवार-बुधवार की रात में दक्षिणी अमे ...

Recent Posts






















Like us on Facebook