राहुल गांधी ने खेला 2019 के चुनाव का सबसे बड़ा दांव, भोपाल में किया ये एलान

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने साफ कर दिया है कि वह 2019 के चुनाव को चेहरों की लड़ाई की बजाय मुद्दों पर ले जाना चाहते हैं। सोमवार को मध्य प्रदेश में ‘किसान कर्ज माफी’ का बड़ा एलान इसी रणनीति का हिस्सा है। कांग्रेस चुनाव घोषणापत्र का औपचारिक हिस्सा बनने से पहले ही राहुल ने किसान कर्ज माफी के चुनावी वादे पर से पर्दा हटा दिया है।
मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ संवाद में राहुल गांधी ने साफ कहा, ‘मध्य प्रदेश ही नहीं देशभर के किसान भाइयों इस बात के लिए तैयार हो जाइए कि 2019 में कांग्रेस सत्ता में आएगी और हम किसानों का कर्ज माफ करेंगे।’ चुनावी वादे की इस बड़ी लकीर के जरिये विपक्षी गठबंधन को सियासी विमर्श के केंद्र में लाने के लिहाज से यह कांग्रेस की गंभीर कोशिश मानी जा रही है।
कांग्रेस चुनाव घोषणापत्र समिति संप्रग-एक सरकार में सियासी गेमचेंजर साबित हुई किसान कर्ज माफी की तर्ज पर 2019 के लिए किसानों को राहत देने के चुनावी वादे का ब्लूप्रिंट तैयार कर रही है। ‘दैनिक जागरण’ ने 16 सितंबर को प्रकाशित खबर ‘2019 में किसानों पर बड़ा दांव लगाने की तैयारी में कांग्रेस’ में इस बड़े चुनावी वादे के बारे में जानकारी दी थी। पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम की अध्यक्षता में गठित कांग्रेस चुनाव घोषणापत्र समिति किसानों का कर्ज माफ करने का ब्लूप्रिंट बनाने के साथ उनकी मुसीबतों का दीर्घकालिक समाधान निकालने के ठोस उपायों का खाका भी तैयार करेगी।
घोषणापत्र समिति को राहुल ने चार अहम मुद्दों किसान, रोजगार, शिक्षा और स्वास्थ्य पर खास फोकस कर देश के सामने कांग्रेस की ओर से ठोस विकल्प देने को कहा है। कांग्रेस घोषणापत्र समिति ने कर्ज माफी को लेकर अभी शुरुआती चर्चा ही की है। मगर भोपाल में राहुल के एलान के बाद इसमें अब शक की गुंजाइश नहीं बची है कि किसान कर्ज माफी कांग्रेस के सियासी पिटारे के सबसे लुभावने वादों में से एक होगा। हालांकि कर्ज माफी केवल वोट बटोरने का दांव न मान लिया जाए इसको लेकर सचेत दिख रहे राहुल गांधी ने इसके पक्ष में अपने तर्क भी दिए।
उन्होंने कहा कि बड़े पूंजीपतियों ने बैकों के 12.5 लाख करोड़ रुपये का कर्ज डकार लिया है और सरकार ने इसे एनपीए में डाल दिया है। इसी तरह, सरकार ने 15 चुनिंदा उद्योगपतियों का 2.5 लाख करोड़ रुपये का बैंक कर्ज माफ कर दिया है तो फिर किसानों का कर्ज क्यों नहीं माफ हो सकता? इस सवाल के साथ ही राहुल ने दिल्ली की सत्ता में आने की ताल ठोंकते हुए कहा कि देश के किसान तैयार रहें कि उनका कर्ज माफ होगा।
सरकार बनी तो आरोपियों को माल्या की तरह भागने नहीं देंगे
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को मध्य प्रदेश के चुनाव अभियान का शंखनाद भोपाल से किया। इस मौके पर उन्होंने कहा,प्रदेश में यदि कांग्रेस की सरकार बनेगी तो व्यापम-ई टेंडरिंग के आरोपितों को 9000 करोड़ लेकर भागे विजय माल्या जैसे देश छोड़कर भागने नहीं देंगे। भेल दशहरा मैदान पर राहुल ने ‘कार्यकर्ता संवाद’ के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं को भरोसा दिलाया कि कांग्रेस की सरकार पहले जनता और कार्यकर्ता की होगी, बाद में नेताओं की। उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा की जा रही घोषणाओं पर कहा कि जिस तरह पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर को रन बनाने की मशीन कहा जाता है, उसी तरह यहां के मुख्यमंत्री घोषणा करने की मशीन हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री अरुण जेटली पर भी उन्होंने तीखे हमले किए।
मप्र चार मामलों में अग्रणी
राहुल ने कहा कि व्यापम घोटाले ने मध्य प्रदेश के रोजगार और शिक्षा व्यवस्था को ध्वस्त कर दिया है। मप्र चार मामलों में अग्रणी है। पहला-बेरोजगारी, दूसरा-भ्रष्टाचार, तीसरा-दुष्कर्म और चौथा-कुपोषण। उन्होंने कहा, विधानसभा चुनाव में भाजपा से आने वाले या पैराशूट से टपकने वाले लोगों को टिकट नहीं दिया जाएगा। किसी का बेटा भर होने पर टिकट नहीं मिलेगा। जो कांग्रेस में हैं, जो काम कर रहे हैं, उन्हें ही टिकट मिलेगा। ... तो 15 मिनट में बदल दिए जाएंगे मुख्यमंत्री और मंत्री
राहुल ने कहा, मध्य प्रदेश में सरकार बनने पर मुख्यमंत्री और मंत्रियों ने कार्यकर्ताओं के लिए दरवाजे खुले नहीं रखे तो 15 मिनट में वे बदल दिए जाएंगे। रोजगार के ज्यादा अवसर देने का एलान करते हुए कहा,कांग्रेस की सरकार बनी तो ‘मेड इन चायना’ खत्म किया जाएगा। ऐसी परिस्थितियां बनाएंगे कि इसका स्थान ‘मेड इन इंडिया’ व ‘मेड इन मप्र’ लेगा।
पांच हजार वाले को कर दिया जाता है डिफाल्टर
राहुल ने कहा,सरकार ने बड़े लोगों के साढ़े 12 लाख करोड़ के ऋण को नॉन परफार्मिग संपत्ति घोषित कर दिया और 15 बड़े अमीरों के डेढ़ लाख करोड़ माफ कर दिए, मगर किसानों के 5000 के ऋण पर उन्हें डिफाल्टर घोषित कर दिया जाता है। हमारी सरकार बनते ही किसानों का कर्ज माफ करेंगे। अर्थशास्त्री कुछ भी कहें, हम किसानों के कर्ज माफ करेंगे।
असली जीएसटी लागू करेंगे
राहुल ने राफेल सौदे और जीएसटी को लेकर भी हमला बोला। कहा कि मिग, सुखोई जैसे विमान बनाने का अनुभव रखने वाले हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड से मोदी ने सौदा वापस ले लिया और 45 हजार करोड़ रुपये के कर्ज में डूबे मित्र अनिल अंबानी को विमान बनाने का ठेका दे दिया। केंद्र में सरकार बनते ही असली जीएसटी लागू किया जाएगा। उन्होंने माल्या के देश छोड़कर भागने के मामले में कहा, जब माल्या ने जेटली को विदेश जाने की जानकारी दे दी थी तो उन्होंने ईडी या सीबीआइ को इसकी जानकारी क्यों नहीं दी।भोपाल में सोमवार को रोड शो के दौरान अभिवादन स्वीकार करते कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी। साथ में ज्योतिरादित्य सिंधिया।

Read More

सीएम बनते ही बोले कमलनाथ, यूपी-बिहार नहीं मध्यप्रदेश के युवाओं का नौकरी पर पहला हक

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ का एक काम पहले दिन से ही विवादों की भेट चढ़ता नजर आ रहा है। दरअसल, मुख्यमंत्री ने पहले दिन उद्योगों के लिए नई छूट नीत ...

कर्जमाफी- गंगा जल लेकर किया गया वादा कांग्रेस के लिए चुनौती, किसानों को है बेसब्री से इंतजार

मध्य प्रदेश, राजस्थान के साथ ही छत्तीसगढ़ में भी मुख्यमंत्री पद के दावेदार का चयन होने के बाद अब इंतजार केवल इसका नहीं है कि कमलनाथ, अशोक गहलोत और भूप ...

कौन बनेगा मुख्यमंत्रीः मप्र, राजस्थान के बाद अब छत्तीसगढ़ की बारी, सस्पेंस बरकरार

मध्यप्रदेश के बाद राजस्थान के मुख्यमंत्री की भी घोषणा हो गई, लेकिन छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री पर रहस्य बरकरार है। शुक्रवार को दिल्ली में कांग्रेस के राष् ...

मध्यप्रदेश में कमल के बाद कमलनाथ का राज, सोनिया-प्रियंका की ने की सीएम बनने में मदद!

चुनाव नतीजे आने के दो दिन बाद कांग्रेस आखिरकार मध्य प्रदेश में कमलनाथ को मुख्यमंत्री चुनने में सफल रही। मध्यप्रदेश में कमलनाथ पर मुहर राहुल गांधी ने म ...

तीनों राज्यों के सीएम पर अब भी सस्पेंस, अब दिल्ली में राहुल तय करेंगे नाम

तीन राज्यों में बड़ी जीत के बाद मुख्यमंत्री पद की दौड़ में शामिल दिग्गजों के डटे रहने की वजह से कांग्रेस के लिए सीएम तय करना आसान नहीं रहा। मध्य प्रदे ...

मध्यप्रदेश-राजस्थान में किसी को बहुमत नहीं, जोड़-तोड़ शुरू; किसकी बनेगी सरकार ?

कांग्रेस पार्टी तीन राज्यों में मिली जीत से भले ही उत्साहित हो लेकिन वो दो राज्यों, राजस्थान और मध्यप्रदेश में बहुमत का आंकड़ा नहीं छू पाई है। इसीलिए ...

दिल थाम कर बैठिए, कल धीरे-धीरे आएगा चुनाव परिणाम, कांग्रेस की ये मांग है वजह

इस बार मतगणना का परिणाम धीरे-धीरे आएगा और देर रात तक नतीजे घोषित होने की संभावना है। इसके पीछे वजह कांग्रेस की आशंका और चुनाव आयोग का एक फैसला है। दरअ ...

10 Exit Poll का सार, जानें कहां बन रही है किसकी सरकार

राजस्थान और तेलंगाना का मतदान खत्म होते ही एग्जिट पोल जारी कर दिए गए। सभी की नजरें मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ पर टिकी थी, जहां मुख्य मुकाबला भा ...

दैनिक जागरण के 75 सालः संवरते भारत का संवाद, पीएम मोदी रखेंगे विचार

विज्ञान, नैतिकता और सार्थकता की राह दिखाने वाला भारत अब फिर से खुद को तलाश रहा है। जाहिर है कि यह स्थिति कई कारणों से बनी जिसमें शायद वषर्षो की गुलामी ...

बिचौलिये मिशेल से CBI की सख्त पूछताछ, सिर्फ दो घंटे सोने दिया, घबराहट में दौरा पड़ा

अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलिकॉप्टर सौदे में बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल (57) के दिल्ली पहुंचने के बाद सीबीआइ ने उससे सघन पूछताछ की। उसे रात में सिर्फ द ...

भारत का सबसे वजनी सैटेलाइट GSAT-11 लांच, तेज हो जाएगी इंटरनेट की स्पीड

भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी ISRO ने बुधवार को अपने अब तक के सबसे वजनी सैटेलाइट का प्रक्षेपण कर दिया। भारतीय समयानुसार मगंलवार-बुधवार की रात में दक्षिणी अमे ...

Recent Posts






















Like us on Facebook